भोपाल। कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने प्रदेश की जनता के साथ धोखा किया। किसानों, नौजवानों, महिलाओं, अतिथि शिक्षकों किसी के साथ भी किया गया वादा पूरा नहीं किया। इस सरकार ने समाज के हर वर्ग के साथ गद्दारी की थी, जिसका जवाब प्रदेश की जनता आने वाली तीन तारीख को दिग्विजयसिंह और कमलनाथ की जोड़ी को देगी, भाजपा प्रत्याशियों पर कमल के फूल बरसाएगी। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री उमा भारती एवं वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने करैरा एवं अशोकनगर में आयोजित सभाओं को संबोधित करते हुए कही।
- सिंधिया जी को चुनौती देना कांग्रेस की ऐतिहासिक भूल: उमाश्री भारती
सुश्री उमा भारती ने कहा कि 2018 के चुनाव में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार भी सिंधिया जी के कारण बनी थी और आज अगर प्रदेश में भाजपा की सरकार है, तो वह भी सिंधिया जी और उनके साथियों की वजह से है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार ने किसानों को धोखा दिया, नौजवानों को धोखा दिया, महिलाओं को धोखा दिया, अतिथि शिक्षकों को धोखा दिया। जब सिंधिया जी ने वादे पूरे करने की बात कही, तो कमलनाथ ने उन्हें सड़कों पर उतरकर लड़ने की चुनौती दे डाली। उनकी यही भूल कांग्रेस के लिए ऐतिहासिक भूल बन गई है। सुश्री भारती ने कहा कि सिंधिया जी के साथी मंत्री-विधायकों ने इस्तीफे दिये और फिर से भाजपा की सरकार बन गई। उन्होंने कहा कि सिंधिया जी के जिन साथियों की बदौलत आज प्रदेश में एक कल्याणकारी सरकार बनी है, उन्हें वापस उनके पद पर पहुंचाना हमारा दायित्व है।
- अच्छी सरकार को बनाने रखने के लिए भाजपा को जिताएं
सुश्री भारती ने कहा कि 2003 में हमने दिग्विजयसिंह की सरकार गिराई थी, जिसके बाद भाजपा की सरकार बनी। जिस तपस्या और समर्पण से मैंने भाजपा की सरकार बनाई थी, शिवराज जी ने उससे भी ज्यादा तपस्या से सरकार चलाई और हर वर्ग के कल्याण के लिए योजनाएं लागू की। यही, वजह थी कि जब 2018 में भाजपा की सरकार गई, तो हर किसी को ऐसा लगा था जैसे अपने घर का कोई व्यक्ति चला गया हो। सुश्री भारती ने कहा कि अब जब फिर से शिवराज जी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी है, तो हर कोई खुश है, सभी को अच्छा लग रहा है। यह खुशी बनी रहे और एक अच्छी सरकार चलती रहे, इसके लिए आने वाली तीन तारीख को भाजपा उम्मीदवारों पर कमल के फूल बरसाएं, शिवराज जी पर कमल के फूल बरसाएं, रामलला के सामने साष्टांग लेटे हुए प्रधानमंत्री श्री मोदी पर कमल के फूल बरसाएं।
- सिंधिया जी शेर हैं, शेरनी के पोते हैं
सुश्री उमा भारती ने कहा कि हार की बौखलाहट में कांग्रेस के लोग असभ्य भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। वे हमारे नेता शिवराज जी, सिंधिया जी के लिए ऐसे शब्द बोल रहे हैं, जिनका उच्चारण करना भी उचित नहीं लगता। सुश्री भारती ने कहा कि ये कुछ भी बोलें लेकिन हमारे नेता शिवराज जी जनता के दिलों में बसे हैं। सिंधिया जी शेर हैं और शेरनी के पोते हैं। जिस तरह से उनकी दादी राजमाता जी ने डी.पी.मिश्रा की कांग्रेसी सरकार को जमीन पर ला दिया था, उसी तरह से ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कमलनाथ सरकार को आईना दिखाया है।
- प्रदेश की जनता के असली गद्दार कमलनाथ और दिग्विजयसिंह: ज्योतिरादित्य सिंधिया
सभाओं को संबोधित करते हुए वरिष्ठ नेता व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ सरकार के समय में एक भाई सीएम थे, तो दूसरे सुपर सीएम थे। एक भाई मुखौटा था और दूसरा पर्दे के पीछे से उसकी डोर खींच रहा था। अगर प्रदेश की जनता से किसी ने गद्दारी की है, तो वो इन्हीं की जोड़ी ने की है। श्री सिंधिया ने कहा कि इनमें से एक भाई को उमा जी ने सीख दी थी और दूसरे में भी वही लक्षण दिखने लगे थे, तो मैंने उसके साथ वही किया। श्री सिंधिया ने कहा कि 1967 में मेरी दादी ने जनविरोधी डी.पी.मिश्रा की सरकार को धूल चटाई थी और जो सरकार मेरे अन्नदाताओं से गद्दारी करेगी, नौजवानों से गद्दारों करेगी, बहन-बेटियों से गद्दारी करेगी, उसे धूल चटाने का काम मैं करता रहूंगा।
- सरकार-सरकार में फर्क है
श्री सिंधिया ने कहा कि एक वो कमलनाथ की गद्दारों वाली सरकार थी और दूसरी ये शिवराज जी की कमल के फूल की सरकार है। दोनों में बहुत फर्क है। शिवराज जी ने आते ही किसानों को फसल बीमा की राशि दिलवाई। किसान सम्मान निधि में 4 हजार रुपये जोड़े। शिवराज जी की सरकार ने कोरोना काल में भी गेहूं की बंपर खरीदी की और पंजाब को पीछे छोड़ दिया। श्री सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में 51000 की राशि देने की बात कही थी, एक पैसा नहीं दिया। शिवराज जी ने योजना दोबारा शुरू की। कमलनाथ सरकार ने युवाओं से 4 हजार रुपया महीना बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था, किसी को नहीं दिया। अब शिवराज जी ने कहा है कि प्रदेश की सरकारी नौकरियां प्रदेश के युवाओं को ही मिलेंगी। उन्होंने स्कॉलरशिप और लेपटॉप वाली योजनाएं भी फिर से शुरू कर दी हैं।
- मेरे साथ विकास की पिक्चर देखना है, तो भाजपा को जिताएं
श्री सिंधिया ने कहा कि इस चुनाव में आपके सामने दो विकल्प हैं। एक तरफ दिग्विजयसिंह- कमलनाथ की सर्वनाश करने वाली जोड़ी है। ये लोग महिलाओं का अपमान करते हैं, मुझे गालियां देते हैं, शिवराज जी को अपशब्द कहते हैं। इन सब का जवाब आपको तीन तारीख को देना है। दूसरी तरफ मेरी और शिवराज जी की जोड़ी है। जिस तरह से 1980 के दशक में मोती-माधव एक्सप्रेस प्रदेश में विकास की बयार लाई थी, उसी तरह हमारी जोड़ी भी विकास के लिए समर्पित है। भाजपा सरकार के आते ही विकास के काम शुरू भी हो गए हैं। लेकिन ये तो सिर्फ ट्रेलर है। जिन लोगों को मेरे साथ विकास की पिक्चर देखना है, वो भारतीय जनता पार्टी को जिताने का संकल्प लें।