ग्वालियर| शिवराज सरकार में केबिनेट मंत्री प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा है कि जब प्रदेश  में अन्नदाता सहित अन्य लोगों की बातें कमलनाथ सरकार में नहीं सुनी गईं और वादाखिलाफी की गई तब कमलनाथ को पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कई बार वचन पत्र को याद दिलाया लेकिन सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद जब कमलनाथ ने खुद प्रेस के सामने कहा कि ज्योतिरादित्य सड़क पर उतर जाएं तो अब हमारे नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी जनता के लिए सड़क पर उतर आए हैं। 
केबिनेट मंत्री प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने एक बयान में कहा कि मप्र में अब कमलनाथ को अपनी सरकार जाने के बाद कुछ सूझ नहीं रहा। आए दिन अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। श्री तोमर ने कहा कि कमलनाथ सरकार जनता से किए जिन वायदों के चलते सत्ता में आई थी उन्हें पूरे नहीं किए गए। चाहे अन्नदाता हो या अन्य। जो सरकार वादे पूरा न करें उसे सत्ता में रहने का कोई हक नहीं इसलिए कमलनाथ सरकार इस वादाखिलाफी के कारण गिर गई। 
केबिनेट मंत्री प्रद्युम्मन सिंह तोमर ने कहा कि कमलनाथ सरकार प्रदेश में 15 महीने सत्ता में रही और कांग्रेस के कुछ चिंहित चेहरे इस सरकार को चलाते रहे लेकिन अब शिवराज सरकार ने कुछ ही महीने के अपने कार्यकाल में पूरे प्रदेश सहित ग्वालियर-चंबल अंचल में विकास कार्यों की झड़ी लगा दी है। ग्वालियर व चंबल संभाग के लिए अटल चंबल एक्सप्रेस वे मंजूर किया गया। साथ ही इस अंचल की सभी विधानसभा क्षेत्र में उनकी मांग के अनुसार करोड़ों रुपए की विकास योजनाएं मंजूर की गई हैं। जिससे विकास को गति मिलेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की तारीफ करते हुए कहा कि इस जोड़ी के एक साथ आने से अंचल में विकास की गति आने वाले समय में और बढ़ेगी।