मध्य प्रदेश की सबसे हॉट सांवेर को जीतने के लिए भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रही है। यहां लगातार पार्टी के बड़े नेता दौरा कर कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं। शुक्रवार को कृषि मंत्री कमल पटेल ने कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने का मंत्र दिया।

मंत्री ने कहा- यह जो चुनाव है, यह झूठे लोगों को सबक सिखाने का चुनाव है। राहुल गांधी ने चुनाव के समय कहा था 10 दिन में यदि सभी किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ नहीं हुआ तो 11वें दिन मुख्यमंत्री बदल जाएगा। 15 महीने तक न कर्जमाफी हुई न ही मुख्यमंत्री बदला। जो काम राहुल गांधी ने नहीं किया, उसे सिंधिया ने कर दिया। राहुल गांधी ने थूककर चाटा, लेकिन सिंधिया ने कर दिखाया।

मंत्री ने कहा- दिग्वियज सिंह के बारे में लिखा जाता था बंटाधार मुख्यमंत्री। दिग्विजय ने 10 साल में बिजली, सड़क, पानी सब बर्बाद कर दिया था। शिवराज सिंह मध्य प्रदेश को बीमारू राज्य से निकालकर विकासशील राज्य में लाए। वहीं, कमलनाथ सरकार ने महिला, किसानों, बुजुर्गों और युवाओं छला है। झूठ बोलकर सत्ता हासिल की, जो पंद्रह माह भी नहीं चल पाई।

मंत्री ने कहा- 6 मंत्री और 22 विधायक, जिन्होंने धोखेबाज कांग्रेस को धक्का देकर सत्ता से हटाया, वे सच्चे नेता हैं, जो कहते हैं, वो करते हैं। इन्होंने कमलनाथ से कई बार विधायक दल की बैठक में कहा कि जो वादे किए उसे पूरे करो। कमलनाथ कहते थे कांग्रेस ने कभी वादे पूरे किए हैं क्या। इंदिरा गांधी ने कौन से गरीबी हटाने का वादा पूरा किया। राजीव गांधी, मनमोहन ने कौन से वादे पूरे किए। अब तो सत्ता आई है मजे करो, खाओ, पीयो लूटाे। इन्होंने कहा कि हम लूटने नहीं सेवा करने आए हैं।

मंत्री ने कहा- कमलनाथ मप्र के मुख्यमंत्री तो रहे, लेकिन उन्हें छिंदवाड़ा के अलावा कुछ नहीं दिखता। बैंड बजाने की ट्रेनिंग, ढोर चराने की ट्रेनिंग देने के लिए कॉलेज छिंदवाडा में खोला। कमलनाथ ने 15 महीने में इतना लूटा कि अब हमेशा के लिए कांग्रेसी बेरोजगार हो गए। उन्हें अब कमलनाथ ही रोजगार देंगे। जीतू पटवारी समेत सभी कांग्रेसी एकत्रित होकर छिंदवाड़ा जाएं और वहां ढोर चराएं, बैंड बजाएं।