कार्मिक विभाग की ओर से सोमवार को रात 11 आईएएस अफसरों की तबादले सूची की जरिए कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार ने ब्यूरोक्रेसी को एक बार फिर सख्त मैसेज दिया है। मंत्रियों और सीनियर से भीड़ने वाले आईएएस अफसरों के विवाद को राज्य सरकार किसी भी सूरत में लंबे समय तक हवा नहीं देगी।

तबादले सूची में मंजू राजपाल, पी रमेश और काना राम तीन ऐसे अफसरों के स्थानांतरण किए गए, जिनका किसी किसी रूप से विवादों से नाता रहा। पिछले एक साल में ऐसे ही विवादों में रहे 25 से अधिक आईएएस अफसरों पर कार्मिक की ओर से विभाग बदलकरविवादको चलता किया गया।