नई दिल्ली | अंडर-19 वर्ल्ड कप से स्टार बनकर उभरे युवा प्रियम गर्ग और अभिषेक शर्मा की उम्दा बल्लेबाजी के बाद राशिद खान की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर सनराइजर्स हैदराबाद ने इंडियन प्रीमियर लीग के मैच में शुक्रवार को तीन बार की चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स को सात रन से हरा दिया। इसके साथ ही चेन्नई को इस टूर्नामेंट में लगातार तीसरी हार का सामना करना पड़ा। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आए लेकिन उन्हें रन गति तेज करने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। अधिकतर मौकों पर नॉटआउट रहने वाले धोनी को विरोधी टीम इस मैच में भी आउट न कर सकी लेकिन भारत को दो वर्ल्ड कप जिताने वाले एमएस धोनी की बैटिंग के दौरान तबियत खराब दिखी।
मैच के बाद धोनी ने अपनी तकलीफ के बारे में बात की और उसके पीछे के कारण को बताया। धोनी ने कहा कि मुझे कोई परेशानी नहीं है लेकिन इस तरह की गर्मी में गला बार-बार सूखता ही है।उन्होंने अपनी बल्लेबाजी और टीम की हार पर कहा कि मैं कई गेंदों पर खुलकर नहीं खेल सका। शायद कुछ ज्यादा ही कोशिश कर रहा था। उन्होंने कहा कि हमने लगातार तीन मैच शायद कभी नहीं हारे। हमें गलतियों को सुधारना होगा। बार-बार एक जैसी गलतियां नहीं कर सकते। कैप छूटे, नोबॉल डाली। हम कुल मिलाकर बेहतर खेल सकते थे। अगर यह नॉकआउट मैच होता तो कैच छूटना कितना भारी पड़ सकता था।
सनराइजर्स की अच्छी गेंदबाजी और चुस्त फील्डिंग के अलावा भीषण गर्मी का भी असर धोनी एंड कंपनी पर नजर आ रहा था। पारी के 19वें ओवर बैटिंग करते हुए धोनी काफी थके हुए लग रहे थे। इस ओवर की चौथी गेंद पर उन्होंने दो रन गए। धोनी इस समय कुछ असहज दिखाई दे रहे थे और उन्होंने टीम फिजियो को बुलाकर कुछ दवा ली। इस छोटे से ब्रेक के बाद धोनी ने पांचवीं गेंद पर छक्का जड़ दिया। छठी गेंद पर एक रन गया। अब चेन्नई को अंतिम छह गेंदों पर 28 रन चाहिए थे।

इस मैच में अपना पहला आईपीएल खेल रहे अब्दुल समद ने आईपीएल में सबसे ज्यादा 194 मैच खेलने का रिकॉर्ड आज ही अपने नाम करने वाले महेंद्र सिंह धोनी को आखिरी ओवर मे खुलकर खेलने नहीं दिया। हैदराबाद के युवा खिलाड़ी अब्दुल समद आखिरी ओवर डाल रहे थे और पहली बाल पर उन्होंने पांच वाइड रन दे डाले।  इसके बीच धोनी ने अपना बल्ला बदल लिया। पहली गेंद पर दो रन गए।
इसके बाद दूसरी गेंद पर धोनी के बल्ले से सीधा चौका निकला। समद ने तीसरी गेंद पर एक रन दिया। चौथी गेंद पर एक रन गया और जीत हैदराबाद की झोली में चली गई। जीत के लिए 165 रन के लक्ष्य के जवाब में चेन्नई पांच विकेट पर 157 रन ही बना सकी। करन ने आखिरी गेंद पर छक्का जरूर मारा लेकिन सिर्फ हार का अंतर ही कम कर सके। धोनी ने नाबाद 47 और करन ने नाबाद 15 रन बनाए। हैदराबाद की तरफ से नटराजन ने दो विकेट लिए जबकि भुवनेश्वर और समद को एक-एक विकेट मिला।