चीनी स्मार्टफ़ोन कंपनी Xiaomi के स्मार्टफोन्स में यूज किया जाने वाला Mi Browser Pro को सरकार ने भारत में बैन कर दिया है. पिछले कुछ समय से लगातार ऐसे चीनी ऐप्स को बैन किया जा रहा है जिससे यूजर्स को खतरा हो सकता है.

इसी क्रम में सरकार ने भारत में Mi Browser Pro - Video Download, Free Fast & Secure को बैन कर दिया है. बताया जा रहा है कि इससे यूजर्स को संभावित खरते थे, इस वजह से अब इसे बैन कर दिया गया है.

शाओमी स्मार्टफोन्स यूज़र्स को इससे इंटरनेट ऐक्सेस करने में थोड़ी दिक़्क़त ज़रूर होगी, लेकिन वो दूसरा ब्राउज़र डाउनलोड करके यूज कर सकते हैं. ये ब्राउज़र शाओमी के Mi, Redmi और POCO सीरीज के स्मार्टफोन्स में दिया जाता है.

TOI की एक रिपोर्ट के मुताबिक शाओमी ने कहा है कि वो इसे लेकर मिनिस्ट्री ऑफिशियल्स से बातचीत करेगी और इसे ठीक करने की कोशिश करेगी. कंपनी ने हालांकि ये भी कहा है कि वो भारतीय कानून के तहत डेटा प्राइवेसी और सिक्योरिटी को लेकर कंपनी गाइडलाइन फॉलो करती है.

शॉर्ट टर्म नहीं, बल्कि कंपनी पर इसका लॉन्ग टर्म असर पड़ेगा

ग़ौरतलब है कि इससे पहले भी सरकार ने Mi Community बैन किया है. अब शाओमी के ब्राउजर को बैन किया जा रहा है. हालांकि इन दोनों के बैन होने से फोन यूजर्स को कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा. क्योंकि आम तौर पर लोग गूगल क्रोम या दूसरे ब्राउजर्स यूज करते हैं.

इस बैन का लॉन्ग टर्म असर कंपनी को पड़ सकता है. ऐसा इसलिए की आने वाले समय में लोग शाओमी के स्मार्टफोन्स ख़रीदने से पहले से ये जरूर सोचेंगे कि आने वाले समय में अगर कुछ और शाओमी के ऐप्स और सर्विस बैन हो गए तो एक तरह से पैसा बर्बाद होगा.

शाओमी पर पहले भी डेटा का ग़लत इस्तेमाल और बेवजह यूज़र का डेटा ऐक्सेस का आरोप लग चुका है. ऐसे में शाओमी पर लगाया ये ब्राउज़र बैन कंपनी के लिए आगे चल कर मुश्किलें पैदा कर सकता है.