भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के घर पर हुई कांग्रेस विधायक दल (CLP Meeting) की  बैठक में कई बड़े निर्णय लिए गए. कांग्रेस पार्टी शिवराज सिंह सरकार (Shivraj Government) के खिलाफ राज्य में बड़ा आंदोलन खड़ा करेगी. बैठक में कमलनाथ ने इस संबंध में सभी कांग्रेसी विधायकों (Congress MLA's) को जरूरी दिशा-निर्देश दिए. रविवार को बुलाई गई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में 65 विधायक पहुंचे थे. बैठक में कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह और अरुण यादव भी शामिल हुए. वहीं मीटिंग में विधायक लक्ष्मण सिंह, सचिन यादव, संजय शर्मा समेत कई अन्य विधायक नहीं पहुंचे.

बैठक के बाद पूर्व मंत्री लाखन सिंह ने कहा कि सभी पहलुओं पर चर्चा हुई है. आने वाले विधानसभा उपचुनाव को लेकर अहम रणनीति बनी है. वहीं राज्य सरकार के मंत्री अरविंद भदौरिया के बयान पर लाखन सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि उनकी सरकार है, जो बोलें उनके लिए जायज है.

बीजेपी नेताओं की कौरवों से की तुलना

बैठक खत्म होने के बाद पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने बीजेपी नेताओं की तुलना कौरवों से की. उन्होंने मंत्री अरविंद भदौरिया के बयान पर कहा कि महाभारत में दुर्योधन ने सारी मर्यादा तोड़ दी थी. बीजेपी में दुर्योधन भी है, शकुनि भी है और धृतराष्ट्र भी. इन सबका वध होगा. पटवारी ने कहा कि शिवराज सिंह जाने वाले हैं, कमलनाथ फिर आने वाले हैं. बैठक में कमलनाथ ने कहा है कि राजभवन में शपथ के बाद फिर बैठक होगा. कांग्रेस पार्टी तमाम मामलों को लेकर जनता के बीच जाएगी, सड़क पर उतरेंगे.

बीजेपी पर लगाया ऑफर देने का आरोप

बैठक में शामिल होने पहुंचे कोतमा विधायक सुनील सराफ ने बीजेपी सरकार पर ऑफर देने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि मुझे पहले भी 30-40 करोड़ रुपए का ऑफर दिया गया था. अभी भी ऑफर दिया जा रहा है. बीजेपी इसके लिए दबाव बना रही है. मेरे छोटे से बिजनेस पर हमला किया जा रहा है. लेकिन मैं चुप बैठने वाला नहीं हूं.

वहीं विधायक संजय यादव ने कहा कि बीजेपी के नेता कांग्रेस विधायकों को प्रलोभन दे रहे है, न मानने पर मुकदमे तक दर्ज करवा रहे हैं. लेकिन कांग्रेस के बैनर तले चुनाव जीते हैं, हम कही नही जाएंगे. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सरकार के खिलाफ आंदोलन करने का निर्णय लिया गया. बैठक में विधायकों की कम संख्या पर संजय यादव ने कहा कि संख्या जरूरी नहीं, सत्र स्थगित हो गया है लिहाजा जिसे चर्चा करनी थी वो विधायक बैठक में पहुचे हैं.

शिवराज सरकार से श्वेत पत्र लाने की मांग

पूर्व मंत्री तरुण भनोट ने शिवराज सरकार से श्वेत पत्र लाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि विकास के मामलों, वित्तीय स्थिति को लेकर सरकार श्वेत पत्र जारी करे. इसमें कर्मचारियों के TA-DA के मामले को भी शामिल करे. सरकार से सैनिटाइजर जैसी वस्तुओं पर जीएसटी माफ करने की मांग की जाए.

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में लिए गए निर्णय..

 कांग्रेस पार्टी सरकार के खिलाफ खड़ा आंदोलन करेगी

 किसान और जनहितैषी मुद्दों को आंदोलन की कड़ी बनाया जाएगा

 बीजेपी का दामन थामने वाले पूर्व विधायकों के खिलाफ सीधा मोर्चा खोला जाएगा

 कांग्रेस विधायकों से एप्रोच (ऑफर देने) करने वाले बीजेपी नेताओं को एक्सपोज करेंगे