उल्हासनगर। कोरोना महामारी के बीच उल्हासनगर मनपा के आयुक्त समीर उन्हाले का तबादला कर दिया गया. उनकी जगह गोंदिया जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, डॉ. मंताडा राजा दयानिधि को उल्हासनगर के मनपा आयुक्त के पद पर तत्काल प्रभाव से नियुक्त करने का आदेश महाराष्ट्र सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग के अपर मुख्य सचिव सीताराम कुंटे द्वारा जारी किया गया है. अब इसे महज संयोग ही कह सकते हैं कि पूर्व आयुक्त रहे सुधाकर देशमुख के तबादले की खबर उल्हासनगरवासियों को मंगलवार को मिली थी वहीं एक महीने भी नहीं हुआ था कि अब मंगलवार के ही दिन समीर उन्हाले का तबादला किये जाने की खबर भी मंगलवार को आई. बहरहाल अब श्री उन्हाले का एक ही महीने में तबादला करने की क्या वजह है ये तो स्पष्ट नहीं हो पाया लेकिन सूत्रों की मानें तो समीर उन्हाले राजनीति के शिकार हुए हैं. ऐसी चर्चा शहर में चल रही है. 
- तीन साल में छठे आयुक्त बने उन्हाले
आपको ये जानकर हैरानी होगी कि बीते तीन साल के दौरान राजेंद्र निंबालकर, गणेश पाटील, अच्युत हांगे, सुधाकर देशमुख, समीर उन्हाले और अब डॉ. मंताडा राजा दयानिधि यानि तीन साल के दौरान श्री दयानिधि उल्हासनगर मनपा के छठे आयुक्त के रूप में अपनी नयी पारी की शुरुआत करेंगे. सूत्र बताते हैं कि मनपा आयुक्तों को यहां के हर एक नेताओं को खुश रख पाना संभव नहीं हो पता जिसके चलते उनका तबादला हो जाता है.