भोपाल । प्रदेश के कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि कई जीतते हुए लोगों को हारते देखा है। लोकतांत्रिक मूल्यों को परेशान किया जा सकता है लेकिन खत्म नहीं किया जा सकता है। अपने विधायकों को हिम्मत देते हुए उन्होंने कहा है कि वे निराश नहीं हों। गलत तरीके मिली जीत लंबे समय तक नहीं टिकती है। उन्होंने विश्वास जताया है कि कांग्रेस फिर लौटेगी और मजबूती के साथ आएगी। कमल नाथ ने कल इस्तीफा देने का एलान करने के बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वे वह दौर भी देख चुके हैं जब इंदिरा गांधी चुनाव हार गई थीं। ऐसा लगता था कि कांग्रेस कभी दोबारा लौटकर नहीं आएगी। मगर हम वापस मजबूती से लौटे। उस दौर के कई उदाहरण देखे हैं इसलिए वे विचलित नहीं हैं।
     कमल नाथ ने कहा कि जिस दिन उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, कई चुनौतियां थीं। उन्होंने कहा कि वे कभी पद के पीछे नहीं दौड़ते। जब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई, उस समय कांग्रेसजनों में निराशा का भाव था। 15 साल से सरकार नहीं थी और संगठन को मजबूत करने का काम किया। कांग्रेस को सत्ता तक पहुंचाया। कमल नाथ ने भाजपा पर आरोप लगाया कि प्रलोभन देकर हमारी सरकार को गिराने का काम तो किया गया है लेकिन यह मिलावटी सरकार कैसे चल पाएगी। इसकी सच्चाई थोड़े दिन में सामने आएगी। भाजपा कैसे लोभियों को सहन करेगी जिनके सामने वो लड़ी थी। उनके लोग उन्हें कैसे सहन करेंगे। कमल नाथ ने कहा कि उनके पास प्रलोभन के खेल के सारे प्रमाण मौजूद हैं। वक्त आने पर जनता के सामने रखेंगे।