दुबई,अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) अंपायरों की डेवलपमेंट पैनल में भारत की दो महिला अंपायरों जनानी नारायणन और वृंदा राठी को बुधवार को शामिल किया गया. इससे अब आईसीसी के महिला अंपायरों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है. 34 साल की नारायणन 2018 से ही घरेलू टूर्नामेंटों में अंपायरिंग करती आ रही हैं.

नारायणन ने कहा, 'यह जानकर बहुत अच्छा लगता है कि वृंदा और मुझे आईसीसी के डेवलपमेंट पैनल में शामिल किया गया है. यह मुझे मैदान पर सीनियरों से सीखने और आने वाले वर्षों में खुद में सुधार करने का मौका देता है. 90 के दशक के बाद से ही क्रिकेट मेरी दिनचर्या का हिस्सा बन गया है और मैं उच्च स्तर पर इस खेल से जुड़ा रहना चाहती हूं.'

वहीं, 31 साल की राठी ने करियर की शुरुआत स्कोरर के रूप में किया था और बाद में अंपायर बन गई. राठी भी 2018 के बाद से ही घरेलू टूर्नामेंटों में अंपायरिंग कर रही है.

राठी ने कहा, 'मुझे लगता है कि आईसीसी के डेवलपमेंट पैनल में मेरा नाम होना मेरे लिए गर्व की बात है क्योंकि इससे मेरे लिए नए रास्ते खुल गए हैं. मुझे यकीन है कि मुझे पैनल के अन्य सदस्यों से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा.'

राठी ने कहा, 'मैंने क्रिकेट खेला और स्कोरर के रूप में भी काम किया है. यह मेरे लिए एक स्वाभाविक प्रगति थी और जिस तरह से चीजें सामने आई हैं उससे मैं खुश हूं.'