पेइचिंग,वैश्विक महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस के कारण विश्वभर में जनजीवन और इकॉनमी अस्त-व्यस्त हो गई है। दुनिया भर के करीब 120 देशों एवं क्षेत्रों में इस वायरस से 5,043 लोगों की मौत हो चुकी है और 133,970 लोग संक्रमित हैं। अस्पतालों में मरीजों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है तो कई देशों में स्कूल, कॉलेज, ऑफिस और स्टेडियम बंद हो रहे हैं। कोविड-19 का संक्रमण दुनियाभर में इतनी तेजी से फैल रहा है कि यात्रा प्रतिबंधों एवं समारोह स्थगित किए जाने समेत कई कदम उठाए जाने के बावजूद इसके जल्द काबू होने की उम्मीदें कम हैं। कई नेताओं समेत अनेक जानी-मानी हस्तियां इस संक्रमण की चपेट में आ गई हैं तो कई शीर्ष नेताओं ने हाथ मिलाने की परंपरा का फिलहाल त्याग करते हुए भारतीय स्टाइल में 'नमस्कार' को अपनाया है।

चीन के बाद इटली, ईरान में सबसे अधिक मौतें
चीन में शुक्रवार को कोरोना वायरस से मौत के सात और मामले सामने आने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,176 पहुंच गई है। चीन में गुरुवार को कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 80,813 पहुंच गई है। चीन के अलावा इटली (1,016 मौत, 15,113 मामले), ईरान (429 मौत, 10,075 मामले), स्पेन (84 मौत, 3,004 मामले) और दक्षिण कोरिया (67 मौत, 7,979 मामले) इससे सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं। जापान में 675 लोग इससे संक्रमित पाए गए हैं। घाना, केन्या, सेंट विंसेंट और ग्रेनेडाइंस ने अपने क्षेत्रों में इसके पहले मामलों की पुष्टि की है। नॉर्वे में पहली मौत की पुष्टि हुई है।

अमेरिकी प्रतिबंध से ईरान को नहीं मिल रही मेडिसिन
ईरान में अब तक 429 लोगों की मौत हो चुकी है। वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने के लक्ष्य से देश के सुरक्षा बलों को आदेश दिया गया है कि वे अगले 24 घंटे के भीतर देशभर की सड़कें खाली करा दें। सेना प्रमुख मेजर जनरल मोहम्मद बगेरी ने टीवी पर प्रसारित एक बयान में शुक्रवार को कहा कि नवगठित आयोग को दुकानें, गलियां और सड़कें खाली कराने की जिम्मेदारी दी गई है। इस फैसले को देशभर में 24 घंटे के भीतर लागू करना है।

उधर, ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने अमेरिका में ट्रंप प्रशासन से देश के परमाणु कार्यक्रम पर लगे प्रतिबंध तत्काल हटाने की अपील की है और कहा है कि प्रतिबंधों के कारण उसके लिए दवाइयां और मेडिकल उपकरण आयात करना मुश्किल हो गया है।

ट्रैवल बैन से बिफरा EU कमिशन
यूरोपीय यूनियन कमिशन ने ट्रैवल बैन पर नाराजगी जाहिर की है। दरअसल, इसके कुछ सदस्य देशों ने विदेशी नागरिकों की एंट्री पर रोक लगा रखी है। इसके बाद कमिशन ने कहा, 'कुछ नियंत्रण को न्यायोचित ठहराया जा सकता है लेकिन सभी पर ट्रैवल बैन से उतना प्रभावी असर नहीं होगा।' इसने इसकी जगह सीमा पर स्क्रीनिंग कराने पर जोर दिया।

ओलंपिक रद्द करने का प्रस्ताव ठुकराया
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तोक्यो ओलिपिंक स्थगित करने का सुझाव दिया था, जिसे जापान ने खारिज कर दिया। जापान के ओलिंपिक मंत्री और ओलंपिक कांस्य पदकधारी सेको हाशिमोटो ने शुक्रवार को तोक्यो में प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'आईओसी और आयोजन समिति इन्हें रद्द करने या स्थगित करने पर विचार नहीं कर रही है - बिलकुल भी नहीं।' अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति और तोक्यो आयोजक तीन महीने पहले चीन में फैले कोरोना वायरस के बाद से अपने इस बयान पर अडिग है कि ओलंपिक खेलों की शुरुआत 24 जुलाई से होगी।