पटना में एक इंश्योरेंस कंपनी में कार्यरत प्रशासनिक अधिकारी ज्योति बाला की आत्महत्या के मामले में मृतका के पति और ससुराल वालों के खिलाफ पुलिस ने चार्जशीट दायर कर दी है। मुंबई के वालीव पुलिस द्वारा अपर जिला एवं सत्र न्यायालय वसई में चार्जशीट सबमिट कराई गई है।  पुलिस ने उक्त मामले में मृतका के पति विमल वर्मा, जोकि उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में एक राष्ट्रीयकृत बैंक में अधिकारी हैं, उनके अलावा पांच अन्य लोगों के खिलाफ आरोप लगाए हैं। इन सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 (ब), 498 (अ), 306, 406, 323, 504, 506 और 34 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। 

गौरतलब है कि ज्योति बाला के पति विमल वर्मा और उसके ससुराल वालों पर दहेज हत्या, प्रताड़ता, मानसिक और शारीरिक शोषण, घरेलू हिंसा और खुदकुशी के लिये उकसाने जैसे संगीन आरोप हैं। ज्योति के ससुराल वालों में सास-मीरा शरण, ससुर- विजय प्रकाश वर्मा, बड़ी ननद- दीपा वर्मा, नंदोई- अविनाश विजेता वर्मा और छोटी ननद – विजेता वर्मा ऊर्फ मोनी शामिल हैं। 

बता दें कि पटना में एक इंश्योरेंस कंपनी में प्रशासनिक अधिकारी के तौर कार्यरत ज्योति बाला ने 9 जून 2019 को मुंबई के वसई रोड में अपनी बड़ी बहन के घर पर पंखे से लटककर खुदकुशी कर ली थी। 

खुदकुशी के पहले ज्योति ने एक सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें उसने अपनी मौत के लिये पति विमल वर्मा और सभी ससुराल वालों को जिम्मेदार बताया है। इतना ही नहीं, इस आखिरी पत्र में उसने अपने और अपने दो महीने के बेटे के लिये न्याय की गुहार भी लगाई है। 

क्या है मामला?
ज्योति बाला की शादी नवंबर 2017  में पटना के सालिमपुर अहरा निवासी विमल वर्मा के साथ हुई थी। ज्योति के परिवार वालों के अनुसार उनकी बेटी को ससुराल वाल दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे।