रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में लगातार बढ़ रहे अपराध (Crime) का खौफ ऐसा कि यहां एक वार्ड पार्षद ने अपने पूरे वार्ड में 80 कैमरे (Camera) लगवा दिए है और अब पूरा वार्ड ही सीसीटीवी (CCTV) कैमरों से लैस करने का लक्ष्य रखा है. प्रदेश में बढ़ रहे क्राइम ग्राफ ने वार्ड पार्षदों की भी चिंता बढ़ा दी है. रायपुर के वार्ड नंबर 61 श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड में लगातार आपराधिक घटनाओं की शिकायतों के बाद यहां के पार्षद सतनाम पनाग ने अपने वार्ड में 80 कैमरे लगा दिया है. इसके लिए पार्षद ने ना केवल अपनी जेब से पैसा लगाया बल्कि वार्ड के व्यापारियों और बिल्डरों से मदद लेकर पूरे इलाके को सीसीटीवी कैमरों की जद में लाने की कोशिश की.

सतनाम पनाग का कहना है कि वार्ड में चोरी और छेड़खानी जैसी घटनाएं बढ़ गई थी और वार्ड आउटर में होने की वजह से पुलिस पेट्रोलिंग भी हमेशा नहीं होती थी. बढ़ते अपराधिक वारदातों से लोग परेशान थे और उनसे इसकी शिकायत करते थे. इसके बाद उन्होंने अपने पूरे वार्ड में सीसीटीवी कैमरे लगाने की पहल शुरू की. शुरूआत में खुद के पैसों से कैमरे खरीदकर लगाए और फिर यहां के लोगों की मदद ली.

ऐसे होगी मॉनिटरिंग


वार्ड में लगाए गए 80 कैमरों की मॉनिटरिंग फिलहाल वार्ड में बने दो जगहों में पार्षद कार्यालय से हो रही है, लेकिन यहां 200 कैमरे लगाने का लक्ष्य रखा गया है. इसके लिए 10 मॉनिटरिंग रूम बनाने की योजना है. इसके लिए भी समाजसेवियों और व्यापारियों से मदद ली जा रही है. वहीं कैमरों के सामने ये भी लिखवाया जाएगा कि आप सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में है ताकी असामाजिक तत्व की भी घटना को अंजाम देने से डरे. इस वार्ड में रहने वाले जय सोनकर का कहना है कि इलाके में तीसरी आंख लगने से वारदातों में कमी आई है, नशाखोरी के साथ लोग कई घटनाओं में कमी आई है.

वहीं रिंकी मिश्रा कहतीं है कि बच्चियों और स्कूल-कॉलेज जाने वाली छात्राओं के साथ आउटर में छेड़खानी की वारदात बढ़ गई थी, लेकिन अब कैमरे की वजह से असामाजिक तत्व ऐसा करने से डरते हैं. यहां लगे 80 कैमरों के बाद 200 कैमरे लगाने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए लोग खुद पार्षद के पास पहुंच रहे हैं. यहां के स्थानीय निवासी अनिल अग्रवाल का कहना है कि पुलिस की निष्क्रियता की वजह से इस इलाके में काफी घटनाएं हो रही है और जब उन्होंने पार्षद द्वारा सीसीटीवी कैमरे लगाने की बात सुनी उन्होंने खुद के खर्चे से पार्षद को उनके क्षेत्र में 10 कैमरे लगाने की पेशकश की है.

महापौर ने की तारीफ

सतनाम पनाग की इस पहल को महापौर एजाज ढेबर (Mayor Aijaz Dhebar) ने सराहनीय बताया है. ढेबर का कहना है कि सुरक्षा की दृष्टि से दूसरे वार्ड के पार्षद भी ये कदम उठा सकते है और इसमें समाजसेवियों के साथ पार्षद निधी का उपयोग कर अपने वार्ड को सुरक्षित बना सकते है.