इंदौर. मध्यप्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) के बड़बोले पन के बाद बाद अब राज्य के उच्च शिक्षा एवं खेल मंत्री जीतू पटवारी ने भी बेबाक बयान दिया है. शनिवार को अपने विधानसभा क्षेत्र राऊ के रंगवासा गांव में 'आपकी सरकार, आपके द्वार' कार्यक्रम में मंत्री जीतू पटवारी (Jeetu Patwari) ने खुले मंच से भ्रष्टाचार में लिप्त पटवारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही. मंत्री ने कहा, 'कलेक्टर साहब, आपके सौ फीसदी पटवारी रिश्वत (Patwari) लेते हैं. इन पर आप लगाम लगाइये.'

हाथ जोड़ने पर नहीं करते काम

उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने रंगवासा गांव की सभा में रिश्वत लेने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी दी. साथ ही लोगों से अपील की कि वे रिश्वत न दें. उन्होंने सभा में कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव से कहा, 'हाथ जोड़ने के बाद अनुरोध करने पर भी ये (पटवारी) काम करने के लिए नहीं मानते हैं.' जीतू पटवारी ने लोगों से कहा, 'रिश्वत लेना और देना दोनों अपराध है. कोई मांगे तो आप इसे मना करें और काम करवाएं. यदि आवेदन के बाद भी काम नहीं होता है, तो आप मुझे बताएं.' उन्होंने खुले मंच से अधिकारियों और कर्मचारियों को भी चेतावनी दी. जीतू पटवारी ने कहा, 'गरीब महिलाएं पेंशन के लिए परेशान हो रही हैं. उनसे मिलने जब जाते हैं तो कहती है कि पांच-पांच बार फॉर्म भर दिए हैं, लेकिन कोई देखने वाला नहीं है. शिकायतों का निराकरण नहीं हुआ तो कार्रवाई होगी.'
नाम सही करने के भी लेते हैं पैसे

मंत्री ने 'आपकी सरकार, आपके द्वार' कार्यक्रम में कहा कि कई बार गरीबी रेखा के कूपन की बात आती है. कई लोग पटवारियों की शिकायत लेकर भी आते हैं कि फॉर्म में गलत नाम को सही करने के लिए पटवारी पैसे मांगते हैं. उन्होंने कहा, 'छह-छह साल से मामले लंबित हैं, इसलिए कमलनाथ सरकार ने आपकी सरकार-आपके द्वार जैसा महत्वाकांक्षी कार्यक्रम तैयार किया है. हमारा उद्देश्य महीनेभर के अंदर सभी समस्याओं का निराकरण करने का है.' जीतू पटवारी ने अफसरों से कहा कि आप भी अपने विभाग में ध्यान रखें कि 'आपकी सरकार, आपके द्वार' के तहत आई शिकायतों की क्या स्थिति है. लोगों से उन्होंने कहा कि जिन्होंने आज के कार्यक्रम में आवेदन दिए हैं अगर उनके काम अगले महीने होने वाले कार्यक्रम तक नहीं हुए, तो शिकायत करें ताकि संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सके.

अवैध कॉलोनियों पर हिदायत

इंदौर में अवैध कॉलोनियों को लेकर भी मंत्री जीतू पटवारी ने कलेक्टर को हिदायत दी कि वे इन्हें बढ़ने नहीं दें. मंत्री ने कहा, 'कलेक्टर साहब हमें अवैध कॉलोनियों को रोकना पड़ेगा. आप जिलेभर में एक अभियान चलाइए. आज जो अवैध कॉलोनी बनेगी, वह कल समस्या का घर बनेगी. हमारी सरकार में अवैध कॉलोनियों को वैध करने का काम किया जा रहा है, लेकिन हमें अवैध से वैध करने के इस सिलसिले को रोकना होगा. यदि इसी प्रकार से अवैध कॉलोनियां कटती रहीं ,तो आने वाले समय में आपका प्रबंधन क्या करेगा, ये चिंता का विषय है. इसलिए पद पर जो लोग बैठे हैं, चाहे वो नगर पंचायत के हों, जिला पंचायत हो, विधायक हों, मंत्री हों यदि वे ये बात नहीं सोचेंगे तो कौन सोचेगा.'

इमरती देवी का बयान हुआ वायरल

बहरहाल, एक तरफ कमलनाथ सरकार की मंत्री इमरती देवी अफसरों के ट्रांसफर में पैसे लगने का बयान देकर अभी सुर्खियों में आई ही थीं कि जीतू पटवारी के बयान ने प्रदेश सरकार में भ्रष्टाचार को लेकर मामले को और गर्मा दिया है. महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी के वायरल हो रहे वीडियो में वह कहती दिख रही हैं कि 'डॉक्टर के तबादले के लिए पैसा देना पड़ेगा, इससे अच्छा सस्पेंड ही कर देते हैं.'