अमरावती (महाराष्ट्र). अमरावती में शादी के पहले राजकीय ऊर्जा कंपनी ने एक कर्मचारी का ट्रांसफर कर दिया। इससे नाराज कर्मचारी ऑफिस के बाहर ही धरने पर बैठ गया। खास बात यह है कि शुक्रवार को उसकी शादी है। उसके परिजन धरना स्थल पर ही शादी की रस्में पूरी कर रहे हैं। 
दरअसल, 9 जुलाई को निखिल तिखे का ट्रांसफर पुणे में कर दिया गया था। इसे लेकर वह अपने साथियों के साथ धरने पर बैठ गया। उसका आरोप है कि ट्रांसफर अवैध है। निखिल का कहना है कि जब तक ट्रांसफर रोका नहीं जाता, तब तक वह धरना खत्म नहीं करेगा। इस बीच उसके परिजनों ने वहीं पर शादी की रस्में पूरी करने का फैसला लिया।
 
धरना स्थल पर आज हो सकती है शादी
बुधवार को मेहंदी और गुरुवार को हल्दी की रस्म पूरी की गई। महाराष्ट्र राज्य विद्युत कर्मचारी फेडरेशन के संयुक्त सचिव लीलेश्वर बंसोड़े ने कहा- यदि वह अपना फैसला नहीं बदलता है तो शुक्रवार को उसके परिवार और दोस्तों की उपस्थिति में धरना स्थल पर ही उसकी शादी की जाएगी।अमरावती (महाराष्ट्र). अमरावती में शादी के पहले राजकीय ऊर्जा कंपनी ने एक कर्मचारी का ट्रांसफर कर दिया। इससे नाराज कर्मचारी ऑफिस के बाहर ही धरने पर बैठ गया। खास बात यह है कि शुक्रवार को उसकी शादी है। उसके परिजन धरना स्थल पर ही शादी की रस्में पूरी कर रहे हैं। 
दरअसल, 9 जुलाई को निखिल तिखे का ट्रांसफर पुणे में कर दिया गया था। इसे लेकर वह अपने साथियों के साथ धरने पर बैठ गया। उसका आरोप है कि ट्रांसफर अवैध है। निखिल का कहना है कि जब तक ट्रांसफर रोका नहीं जाता, तब तक वह धरना खत्म नहीं करेगा। इस बीच उसके परिजनों ने वहीं पर शादी की रस्में पूरी करने का फैसला लिया।