सूरत | शहर के कोसाड क्षेत्र में कक्षा 10 की एक छात्रा ने पांचवीं मंझिल से कूदकर जान देने का प्रयास किया| गनीमत रही छात्रा बच गई और अस्पताल में उसका उपचार चल रहा है| परिवार का आरोप है कि उसकी पुत्री ने स्कूल और कोचिंग क्लास के शिक्षक के टॉर्चर से परेशान होकर आत्महत्या की कोशिश की|
जानकारी के मुताबिक सूरत के कोसाड क्षेत्र के राधे हरसिद्धि एपार्टमेंट निवासी नीतिन राठौड़ की 14 वर्षीय पुत्री खुशी शहर के अमरोली क्षेत्र की गौतमी कन्या विद्यालय की 10 की छात्रा है| गत 4 जुलाई की रात अपने घर से बाहर निकली और अपने एपार्टमेंट की पांचवीं मंझिल से कूद गई| खबर लगते ही फ्लैट के लोगों ने खुशी को तुरंत निजी अस्पताल पहुंचाया| गनीमत रही कि खुशी की जान बच गई| खुशी के परिजनों का कहना है कि स्कूल की दो शिक्षिका और कोचिंग क्लास का शिक्षक उसे परेशान कर रहे थे| जिसकी वजह से खुशी तनाव रहती है और शिक्षकों के टॉर्चर से परेशान होकर उसने जान देने का प्रयास किया| नितिन राठौड़ ने बताया कि शिक्षिका और शिक्षक खुशी को कूद कर मर जाने को कहते थे| आत्महत्या के प्रयास से दो दिन पहले खुशी ने स्यूसाइड नोट लिखा था| जिसमें खुशी ने लिखा, “मम्मी-पापा, सोरी मैं अब इस पृथ्वी पर नहीं जी सकती| मुझे माफ कर देना| 2 जुलाई 2019 को मैं आत्महत्या कर रही हूं| स्कूल और ट्यूशन क्लास के टीचर के कारण में यह कदम उठा रही हूं|”