बहला-फुसलाकर ले गए दो युवक; जिससे भी मदद मांगी, उसी ने बनाया हवस का शिकार, ढाबा संचालक समेत 9 ने किया दुष्कर्म
 

सीधी, खंडवा के बाद उमरिया में सामने आया दिल दहलाने वाला मामला
सात आरोपी गिरफ्तार, भेजे गए जेल, दो अब भी फरार

सीधी, खंडवा के बाद उमरिया में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां 13 साल की बच्ची को तीन दिन तक नौ लोगों ने हवस का शिकार बनाया। इससे पहले 4 जनवरी को भी कुछ आरोपियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। यही नहीं, बच्ची ने जिससे भी मदद मांगी, उसी ने फायदा उठाया। यही नहीं, परिजन के साथ थाने पहुंची किशोरी ने जब हालात बयां किए, तो सुनकर पुलिस की भी रूह कांप गई। सात आरोपियों काे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

सीधी में महिला से गैंगरेप मामला:गृह मंत्री बोले - स्पेशल ट्रायल चलाकर दिलाएंगे सजा, महिला आयोग की अध्यक्ष बोलीं- बदायूं की घटना से नहीं लिया सबक

पुलिस के अनुसार उमरिया निवासी 13 वर्षीय बच्ची जबलपुर में पिता के साथ रहकर पढ़ाई कर रही है। वह नौवीं की छात्रा है। पिता सरकारी नौकरी में हैं। लॉकडाउन के दौरान स्कूलों में अवकाश होने से छात्रा मां के पास उमरिया आ गई। 11 जनवरी को बच्ची किशोरी नगर की सब्जी मंडी में ही घरेलू काम से गई थी। इसी दौरान उसे मंडी में राहुल कुशवाहा व आकाश सिंह नाम के दो युवक मिले। दोनों ने एक दुकान में ले जाकर उसे बहलाया-फुसलाया और मोबाइल नंबर लिया। इसके बाद घुमाने के बहाने वे बच्ची को बाइक पर साथ ले गए।

दुष्कर्म के बाद नौवीं की छात्रा की हत्या:बिस्किट लेने गई बच्ची को 45 साल का दुकानदार बहलाकर घर में ले गया; रेप कर गला घोंटा, लाश छिपाने में पत्नी ने भी की मदद

जंगल में ले जाकर धमकाया, दुष्कर्म किया

दोनों आरोपी उसे लेकर शहर से लगे भरौला व छटन के जंगल में पहुंचे। यहां डरा-धमकाकर दुष्कर्म किया। इसके बाद उसे एनएच 43 किनारे पर मौजूद ढाबे में ले गए। रात में उसे वहीं बंधक बनाकर रखा। यहां आरोपी आकाश व राहुल के अलावा ढाबा संचालक पारस सोनी व साथियों मानू केवट, ओंकार राय, ईतेंद्र सिंह व रजनीश चौधरी ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद आरोपी उसे छटन बस्ती के जंगल में भी ले गए, जहां उसके साथ दरिंदगी की।

सीधी में हैवानियत:महिला से गैंगरेप के बाद प्राइवेट पार्ट में सरिया डाला, पीड़िता की हालत गंभीर

ट्रक चालकों ने भी उठाया फायदा

पुलिस के अनुसार दूसरे दिन यानी 12 जनवरी की सुबह बालिका ने बड़े पापा के पास कटनी भेजने की मिन्नतें की, तो आरोपियों ने एक ट्रक ड्राइवर रोहित यादव को बुलाकर उसे ट्रक में बिठाया। रोहित ने बच्ची को ट्रक में तो बैठाया, लेकिन रास्ते में उसने भी बालिका के साथ दुष्कर्म की। बाद में उसे विलायत कला- बड़वारा के समीप टोल नाके पर छोड़ दिया। यहां बालिका ने फिर से वापस उमरिया आने के लिए ट्रक चालक से लिफ्ट मांगी। यही नहीं, इस ट्रक चालक ने भी बेबसी का फायदा उठाते हुए उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में उसे उमरिया के पास छोड़कर भाग गया।

ठीक से बता नहीं पा रही बच्ची

बच्ची ने उमरिया पहुंचकर परिजन को आपबीती बताई। इसके बाद परिजन उसे थाने लेकर पहुंचे। एसपी विकास शाहवाल भी थाने पहुंचकर पूछताछ की। एसपी के मुताबिक सिलसिलेवार दरिंदगी से बच्ची बहुत डरी हुई है। वह ठीक से कुछ बता नहीं पा रही है। कोतवाली थाने मेें 9 आरोपियों के खिलाफ धारा 376 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने आकाश सिंह, राहुल कुशवाह, मानू केवट, ओमकार राय, रजनीश चौधरी, पारस सोनी व ट्रक चालक रोहित यादव को गिरफ्तार कर लिया है। ईतेन्द्र व अन्य ट्रक चालक की तलाश जारी है। आरोपियों की उम्र 21 से 30 वर्ष के बीच बताई गई है। ट्रक चालक रोहित सीधी और अन्य आरोपी उमरिया के रहने वाले हैं।

4 जनवरी को भी हुआ था दुष्कर्म

एसपी के अनुसार किशोरी ने बताया है, आकाश 4 जनवरी को भी उसे जंगल में ले गया था। यहां उसने अपने दूसरे दोस्तों को बुलाया और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। मामले में भी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। बताया गया, परिजन ने बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।