Saturday, 28 March 2020, 7:37 PM

तीज एवं त्यौहार

चैत्र नवरात्रि 2020: मां कुष्माणा की पूजा से मिलती है सभी रोगों से मुक्ति, संतान सुख का मिलता है आशिर

Updated on 28 March, 2020, 6:30
मां कुष्माण्डा हैं मां दुर्गा का चतुर्थ स्वरुप। जब सृष्टि नहीं थी और चारों तरफ सिर्फ अन्धकार ही अन्धकार था, तब मां दुर्गा के इसी स्वरुप ने हल्की सी मुस्कान बिखेर कर चारों तरफ प्रकाश ही प्रकाश उत्पन्न कर ब्रह्माण्ड की रचना की। इसीलिए मां कुष्माण्डा को आदिस्वरूपा व आदिशक्ति... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि 2020: मां कुष्मांडा की इस आरती को करने से सभी मनोकामनाएं हो जाती हैं पूरी, मिलता है व्

Updated on 28 March, 2020, 6:15
नवरात्रि में मां शेरावाली की उपासना के चौथे दिन की पूजा का अत्याधिक महत्त्व है। मां दुर्गा जी के चौथे स्वरुप का नाम कूष्माण्डा है। नवरात्रि उपासना में चौथे दिन इन्ही के विग्रह का पूजन-आराधना की जाती है। इस दिन साधक का मन 'अनाहत' चक्र में स्थित होता है। अतः... आगे पढ़े

27 मार्च गणगौर पर्व पर विशेष-राजस्थान का प्रमुख लोकोत्सव गणगौर 

Updated on 27 March, 2020, 6:15
  राजस्थान में गणगौर का पर्व लोकोत्सव के रूप में सदियों से मनाया जाता रहा है। विवाहित व अविवाहित सभी आयु वर्ग की सुहागिन महिलायें गणगौर की पूजा करती है। होली के दूसरे दिन से सोलह दिनों तक लड़कियां प्रतिदिन ईसर-गणगौर को पूजती हैं। जिस लड़की की शादी हो जाती है... आगे पढ़े

नवरात्र के दूसरे दिन इस विधि से करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा

Updated on 26 March, 2020, 6:45
कलश स्थापना के साथ ही 25 मार्च से चैत्र नवरात्रि शुरु हो गई है. इन नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा अर्चना की जाती है. नवरात्र के पहले दिन जहां मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना की जाती है वहीं दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की उपासना की... आगे पढ़े

सबकी सुख समृद्धि के लिए होता है। नवसंवत्सर 

Updated on 25 March, 2020, 10:34
जो सभ्यता अपने इतिहास पर गर्व करती है, अपनी संस्कृति को सहेज कर रखती है और अपनी परंपराओं का श्रद्धा से पालन करके पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ाती है वो गुज़रते वक्त के साथ बिखरती नहीं बल्कि और ज्यादा निखरती जाती है।  जब चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा के सूर्योदय के... आगे पढ़े

नवरात्रि-शक्ति की महत्ता का पर्व 

Updated on 25 March, 2020, 6:30
नवरात्रि हिंदुओं का एक विशेष पर्व है। नवरात्रि शब्द एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है 'नौ रातें'। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दसवाँ दिन दशहरा के नाम से प्रसिद्ध है। नवरात्रि वर्ष में चार... आगे पढ़े

नवरात्र का पहला दिन, मां शैलपुत्री की पूजाविधि, भोग और मंत्र

Updated on 25 March, 2020, 6:27
मां शैलपुत्री को पर्वतराज हिमालय की पुत्री माना जाता है। इनका वाहन वृषभ है इसलिए इनको वृषोरूढ़ा और उमा के नाम से भी जाना जाता है। देवी सती ने जब पुनर्जन्म ग्रहण किया तो इसी रूप प्रकट हुईं इसीलिए देवी के पहले स्वरूप के तौर पर माता शैलपुत्री की पूजा... आगे पढ़े

नव-संवत्सर उपलब्धियों के लेखा-जोखा व नई शुरुआत का दिन

Updated on 25 March, 2020, 6:15
नव-संवत्सर हिन्दू नव वर्ष का आरंभ है जो चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा को शक्ति-भक्ति की उपासना, नवरात्रि के साथ प्रारंभ से होता है। पंचाग रचना का भी यही दिन माना जाता है। महान गणितज्ञ भाष्कराचार्य ने इसी दिन सूर्योदय से सूर्यास्त तक दिन, महीना और वर्ष की गणना कर... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि 2020: मां दुर्गा के ये चमत्कारी मंत्र जिनसे होगी हर इच्छा पूरी

Updated on 21 March, 2020, 6:45
हिंदू धर्म में नवरात्रि के व्रत को विशेष महत्व दिया गया हैं नवरात्रि के दिनों में माता पृथ्वी पर होती हैं इसलिए इन दिनों देवी मां को प्रसन्न करना बहुत ही सरल माना जाता हैं। इस बार 25 मार्च दिन बुधवार से देवी मां का पावन पर्व नवरात्रि आरंभ हो... आगे पढ़े

होली के अवसर पर विशेष- बहुत प्रतीकात्मक हैं होली के रंग 

Updated on 10 March, 2020, 6:45
शुद्ध सात्विक पेड़-पौधों और फूलों के रंगों का त्योहार है होली। रंगों की बरसात है होली। रंगों की फुहार है होली। रगं,भंग और तरंग का त्योहार है होली। बिना रंगों के होली की  कल्पना भी नहीं की जा सकती। संभवत: विश्व में कोई अन्य त्योहार इतना रंग बिरंगा नहीं है... आगे पढ़े

होली: पूजे जाते हैं होलिका के प्रेमी इलोजी 

Updated on 10 March, 2020, 6:15
होली यानि रंगों का पर्व। भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों में होली मनाई जाती है। होली का नाम लेते ही रगों में उन्मादित खुशी दौड जाती है। होली पर प्रहलाद और होलिका से जुडा प्रसंग भी बरबस याद आ जाता है। लेकिन, ऐसी कई रोचक जानकारियां हैं... आगे पढ़े

इस बार होली पर बन रहा 500 वर्ष बाद ग्रह-नक्षत्रों का संयोग

Updated on 9 March, 2020, 6:15
सबगुरु न्यूज। होली को आप एक दिन शेष रह गया है, लेकिन इस बार होली खेलने वाले कोरोना वायरस की वजह से समाज में दहशत जरूर भरी है लेकिन अबकी होली पर 500 वर्ष बाद गृह-नक्षत्रों का विचित्र संयोग भी बन रहा है। इस बार होली 9 मार्च को है... आगे पढ़े

499 साल बाद चार ग्रहाें की चाल लेकर आ रही होली, भद्रा के बजाय सर्वार्थ सिद्धि याेग में मनेगी

Updated on 6 March, 2020, 6:30
499 साल बाद चार ग्रहों की चाल होली पर्व के साथ देश में सुख-समृद्धि व शांति का संयाेग लेकर आ रही है. हिंदी पंचांग में 9 मार्च को फाल्गुन पूर्णिमा साेमवार के दिन होलिका दहन किया जाएगा. दूसरे दिन मंगलवार को होली खेली जाएगी. होली के दिन गुरु व शनि... आगे पढ़े

होली के टोटके: होली के दिन इस तरह से करें मां काली की पूजा, दूर हो जाएंगे जीवन के सारे कष्ट

Updated on 6 March, 2020, 6:15
होली के दिन किए जाने वाले टोटकों का फल जरूर मिलता है। इसलिए आप होली के टोटके जरूर करें। इस दिन मात्र कुछ टोटके करने से कारोबार में हो रही हानि, परिवार की कलह, धन हानि और इत्यादि चीजों से छुटकारा मिल जाता है। तो आइए जानते हैं होली के... आगे पढ़े

फाल्गुन में भगवान कृष्ण के तीनों स्वरुपों की होती है पूजा

Updated on 5 March, 2020, 7:00
हिन्दू पंचांग का अंतिम महीना फाल्गुन मास का होता है। इस महीने की पूर्णिमा को फाल्गुनी नक्षत्र के रूप में देखा जाता है। इसलिए इस महीने का नाम फाल्गुन मास रखा गया है।  फाल्गुन मास में भगवान कृष्ण की विशेष पूजा की जाती है। इस महीने उनकों पीले फूल अर्पण... आगे पढ़े

होलाष्टक के दौरान इसलिए नहीं होते हैं मांगलिक कार्य 

Updated on 5 March, 2020, 6:00
इस बार होली दस मार्च को मनाई जाएगी। ऐसे में 03 मार्च से होलाष्टक लग गया है जो 09 मार्च को समाप्त होगा, होली के आठ दिन पहले के समय को होलाष्टक कहा जाता है। इस दौरान किसी भी तरह के शुभ और मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं। माना... आगे पढ़े

क्या है होलाष्टक पर शुभ कार्य न करने का असल कारण?

Updated on 1 March, 2020, 6:30
आप में से बहुत से लोगों ने सुना होगा कि होलाष्टक पर शुभ कार्य किए जाने वर्जित होते हैं। मगर बहुत कम लोग है जिन्हें इसका मुख्य कारण पता है। दरअसल शास्त्रों के अनुसार होलाष्टक फाल्गुन शुक्ल अष्टमी से शुरू होकर होलिका दहन यानि रंगों की होली से एक दिन... आगे पढ़े

होलाष्टक: 2-9 मार्च नहीं होंगे शुभ काम, जानें क्यों?

Updated on 1 March, 2020, 6:15
होलाष्टक शुरु होने जा रहा है और इसकी शुरुआत 2 मार्च से होगी जो कि नौ मार्च तक रहेगी। ऐसी मान्यता है कि इस दौरान शुभ और मांगलिक कार्य बिल्कुल भी नहीं किए जाते हैं। और गलती से भी कोई इस अवधि में यदि कोई ऐसा करता है तो उसे... आगे पढ़े

हर-हर महादेव के जयकारों से गूंजे शिवालय, भक्तों ने किया जलाभिषेक

Updated on 21 February, 2020, 8:18
देवों के देव महादेव का पावन पर्व महाशिवरात्रि आज है। पूरे देश में भगवान शिव के मंदिरों को सजाने-संवारने का कार्य पूरा हो चुका है। रात से ही मंदिरों में शिवलिंग पर जलाभिषेक के साथ पूजा-अर्चना करने के लिए श्रद्धालुओं का रेला नजर आने लगा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए... आगे पढ़े

शिवरात्रि - शिवजी से एकात्मकता का पर्व

Updated on 21 February, 2020, 6:45
शिव की आराधना का पर्व है- महाशिवरात्रि इस दिन बच्चों से लेकर वृद्धजनों तक अपने सामर्थ्यानुसार भगवान शिव का पूजन अर्चन करते हैं। इस संसार के सर्जनहार भगवान शिव ही हैं। शिव जी ने अमृत मंथन के समय देव-दानव युद्ध में हलाहल को अपने कंठ में धारण कर मानवता की... आगे पढ़े

20 फरवरी को प्रदोष व्रत, जानें पूजा विधि और महत्व

Updated on 19 February, 2020, 6:30
फाल्गुन माह का पहला प्रदोष व्रत गुरुवार, 20 फरवरी को है। इस बार गुरूवार के दिन प्रदोष व्रत पड़ने के कारण इसे गुरु प्रदोष व्रत कहा जाएगा। पंचांग के अनुसार प्रदोष व्रत हर महीने में दो बार होता है, एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में। यह व्रत... आगे पढ़े

होलिका दहन पर पूजा करने से मिलता है पितरों का आशीर्वाद

Updated on 17 February, 2020, 6:15
विधि विधान से होलिका का पूजन करने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है। होलिका पूजन से पितरों का आशीर्वाद बना रहता है। शास्त्रों की विधि से होली के पूजन के समय पितरों की पूजा पाठ करने से उनकी आत्मा को स्वर्ग में शांति मिलती है। इससे घर में सुख... आगे पढ़े

किस दिन मनाई जाएगी महाशिवरात्रि? जानें पूजा का शुभ मुहूर्त

Updated on 15 February, 2020, 12:16
महाशिवरात्रि पर भक्त पूरे दिन और रात व्रत रखते हैं. अगले दिन सुबह वह व्रत का पारण करते हैं. हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है महाशिवरात्रि. इस दिन भगवान शिव की पूजा-अर्चना की जाती है. फाल्गुन के महीने की शिवरात्रि को महाशिवरात्रि कहा जाता है. महाशिवरात्रि के दिन... आगे पढ़े

सीता अष्टमी पर इस प्रकार पूजा करें 

Updated on 13 February, 2020, 6:00
सनातन धर्म में व्रत और पूजन का विशेष महत्व है। सीता अष्टमी 16 फरवरी रविवार को है। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को माता सीता धरती पर अवतरित हुए थी। इस‍ीलिए इस दिन सीता अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इसे जानकी जयंती... आगे पढ़े

इस साल बुधवार के दिन पड़ रही संकष्टी गणेश चतुर्थी,ऐसे करें पूजा-अर्चना

Updated on 12 February, 2020, 6:00
 खबरें अभी तक। फाल्गुन मास की संकष्टी गणेश चतुर्थी इस साल 12 फरवरी दिन बुधवार यानि कल है। संकष्टी गणेश चतुर्थी हर मास में कृष्ण पक्ष में आती है। इस दिन श्री गणेश जी की विधि विधान से पूजा अर्चना होती है। बात करें अगर इस साल की तो इस... आगे पढ़े

होली का डांडा रोपण के साथ ही फाल्गुन महीना शुरू

Updated on 11 February, 2020, 6:30
अजमेर। राजस्थान में रंगों का त्यौहार होली से एक महीने पहले होलिका रोपण (होली का डांडा) के साथ ही से सोमवार से फाल्गुन महीना शुरु हो गया। फाल्गुन मास की एकम एक दूज एक साथ है। इसी के साथ अजमेर सहित पूरे राजस्थान में होली की तैयारियां शुरु हो गयीं हैं।... आगे पढ़े

उत्तम संतान का वरदान प्राप्त करने के लिए, जानिये गुरु प्रदोष व्रत रखने का सही तरीका

Updated on 9 February, 2020, 6:00
जो प्रदोष व्रत गुरुवार के दिन पड़ता है,वही उसे गुरु प्रदोष कहते हैं. इसके अलावा इस दिन भगवान शिव का आशीर्वाद आसानी से मिलता है. इसके साथ ही गुरु प्रदोष व्रत करके कोई भी व्यक्ति अपने मन की इच्छा को बहुत जल्द पूरा कर सकता है. इसके साथ ही किसी... आगे पढ़े

जया एकादशी व्रत 2020: जया एकादशी के दिन न करें ये काम

Updated on 4 February, 2020, 6:30
आपको बता दें कि जया एकादशी का व्रत इस साल 5 फरवरी को पड़ रहा हैं वही पंचांग के मुताबिक जया एकादशी हर साल माघ शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को पड़ती हैं स्वयं भगवान श्रीकृष्ण जया एकादशी का महत्व बताते हुए कहते हैं   कि माघ शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली... आगे पढ़े

5 फरवरी को है जया एकादशी, पढ़ें इससे जुड़ी प्रामाणिक व्रत कथा

Updated on 2 February, 2020, 6:45
एकादशी का व्रत सर्वश्रेष्ठ व्रत माना जाता है। इस व्रत को करने से भगवान विष्णु जी की कृपा बन जाती है। ये व्रत हर महीने आता है। माघ माह के शुक्ल पक्ष में आने वाली एकादशी को जया एकादशी कहा जाता है और ये एकादशी समस्त एकादशियों में सबसे सर्वश्रेष्ठ... आगे पढ़े

नर्मदा जयंती पर विशेष- सामाजिक और सांस्कृतिक विरासत है माँ नर्मदा   

Updated on 1 February, 2020, 6:30
सदियों से अपने प्रवाह को निरन्तर बनाये हुए नर्मदा नदी जिस कल-कल निनाद के साथ प्रवाहित होती है वह अक्षुण है। नर्मदा अपने आँचल में सदियों से हमारी संस्कृति को समेटे हुए है। जीवन जीने की सीख के साथ भाईचारा और मेल-मिलाप का संदेश देती माँ नर्मदा को हम जीवनदायिनी... आगे पढ़े

मूवी रिव्यू