Breaking News

Today Click 85

Total Click 5103777

Date 24-01-18

गरीबी के कारण हितग्राही बेच रहे गैस कनेक्शन, नहीं भरवा पा रहे गैस

By Khabarduniya :10-12-2017 08:59


बिलासपुर। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना धुंधला गई है। बीपीएल परिवार की महिला मुखिया के नाम पर दिए गए रसोई गैस कनेक्शन को खुद हितग्राही पांच-पांच सौ स्र्पए में बेच रहे हैं। इसके पीछे गरीबी को बड़ा कारण माना जा रहा है। अकेले मरवाही तहसील के अंतर्गत आने वाले आधा दर्जन गांवों में उज्ज्वला योजना के कनेक्शन गरीब हितग्राहियों की रसोई से गायब होे चुके हैं।

मुफलिसी के नाते दोबारा नहीं भरा पा रहे गैस

चूल्हा और लकड़ी से भोजन बनाने वाली महिलाओं को धुआं व जानलेवा प्रदूषण से बचाने के लिए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना शुरू की गई है। इसके तहत गरीब महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिया जा रहा है। जिला प्रशासन ने इसकी शुरुआत वनांचल से की थी। मरवाही तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्रामीण इलाकों में आदिवासी महिलाओं को चूल्हा और धुआं से मुक्ति दिलाने के लिए कैम्प के जरिए रसोई गैस कनेक्शन का वितरण किया गया था। आदिवासी महिलाओं ने तकरीबन डेढ़ महीने तक गैस कनेक्शन से भोजन बनाया।

सिलेंडर खत्म होने के बाद रीफिलिंग नहीं कराई। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण आदिवासी परिवार दुबारा गैस नहीं भरा सके। ऐसे में सिलेंडर व चूल्हे को किनारे रखकर लकड़ी के जरिए दोबारा भोजन बनाना शुरू किया। घर में फूटी कौड़ी न होने के कारण इनके लिए गैस कनेक्शन किसी काम का नहीं रह गया है।

लालच में बेच रहे कनेक्शन

आदिवासी परिवार की लाचारी और बेबसी का फायदा गांव और आसपास के रसूखदार लोगों ने उठाना शुरू किया। चार हजार स्र्पए के गैस कनेक्शन को 500 स्र्पए में देकर खरीद जा रहा है। आदिवासी स्र्पए लेकर खुशी-खुशी कनेक्शन के साथ ही गैस कार्ड को भी इनके हवाले कर दे रहे हैं।

तीन गांवों में उज्ज्वला योजना का पता नहीं

मरवाही तहसील के अंतर्गत आने वाले चुकतीपानी,नौली व खपली में पीएम उज्ज्वला योजना पूरी तरह गायब हो गई है। तरकीबन एक साल पहले इन गांवों के 150 से ज्यादा आदिवासी परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन दिया गया था। 150 परिवार के रसोई घर से गैस कनेक्शन गायब हो गया है। न सिलेंडर है और न ही गैस चूल्हा। गैस चूल्हे की जगह मिट्टी के चूल्हे ने ले लिया है। सिलेंडर की जगह आदिवासी महिलाएं खाना बनाने को लकड़ी का उपयोग कर रही हैं।

कनेक्शन के साथ कार्ड भी ले गए

बीपीएल हितग्राहियों को फ्री गैस कनेक्शन के साथ ही परिवार की महिला मुखिया के नाम पर गैस कार्ड भी जारी किया गया था। इसमें सब्सिडी का भी प्रावधान है। रसोई गैस कनेक्शन खरीदने वालों ने कनेक्शन के साथ ही चालाकी दिखाते हुए हितग्राहियों से गैस कार्ड भी ले लिया है। इसका फायदा हर महीने सब्सिडी के रूप में उठाएंगे।

हितग्राहियों से 200 स्र्पए लेकर जारी किया था कनेक्शन

बीपीएल हितग्राहियों से कनेक्शन देने के एवज में 200 स्र्पए लिए गए थे। इसमें 125 स्र्पए सिलेंडर से चूल्हा के बीच लगने वाले सुरक्षा पाइप,25 स्र्पए नीला कार्ड व 50 स्र्पए एडमिनिस्ट्रेशन शुल्क के रूप में एजेंसी संचालकों ने लिया था। बहरहाल, इस संबं में जिला फूड अकिारी से बात करने की कोशिश की गई पर उन्होंने फोन पिक नहीं किया।

Source:Agency

Sensex