Breaking News

Today Click 101

Total Click 5085923

Date 24-11-17

लेबनान की जनता की सउदी अरब से मांग, ‘हमारा पीएम वापस लौटाओ’

By Khabarduniya :11-11-2017 06:58


इंटरनेशनल डेस्क. लेबनान में इन दिनों अनोखा प्रदर्शन चल रहा है। यहां लोग पीएम साद अल-हरीरी के पोस्टर लगाकर सऊदी अरब से मांग कर रहे हैं कि हमारा पीएम हमें वापस करो। उन्हें शक है कि अल-हरीरी को अरब ने उनकी इच्छा के बगैर रोक रखा है। दरअसल लेबनान के पीएम अल-हरीरी एक हफ्ते पहले सऊदी अरब की राजधानी रियाद गए थे। जाते ही उन्होंने अपनी जान को खतरा बताते हुए वहीं से टीवी पर अपना इस्तीफा पढ़ दिया था। इसके बाद से वो लापता हैं। लेबनान की सरकार को भी साद के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

सउदी अरब ने आरोप नकारे
लेबनान की राजधानी बेरूत में लोगों ने मार्च निकालकर अरब से अपील की है कि उनके पीएम को वापस भेजा जाए। इस पर अरब सरकार का कहना है कि- 'हमने साद को नहीं रोका है। कल ही वो रियाद से अबूधाबी जा चुके हैं।' लेबनान और सऊदी अरब के बीच पिछले काफी समय से तनाव की स्थिति बनी है। साद के लापता होने के बाद ये तनाव बढ़ गया है।
पूरे मिडिल ईस्ट में छाए है संकट के बादल
दरअसल ये समस्या सऊदी अरब और लेबनान नहीं, बल्कि पूरे मिडिल ईस्ट की है। लेबनान की सरकार में यमन के संगठन हिज्बुल्ला का भी दखल रहा है। हिज्बुल्ला को सऊदी अरब अपने खिलाफ युद्ध छेड़ने वाला संगठन मानता है। इसलिए अरब और लेबनान के बीच तनाव बढ़ गया। इधर हिज्बुल्ला ने भी लेबनान की सरकार पर हावी होना शुरू कर दिया। दबाव बढ़ता देख लेबनान के पीएम हरीरी सऊदी अरब चले गए। वहीं से उन्होंने टीवी पर लाइव आकर अपना इस्तीफा पढ़ दिया। इस्तीफे में अल-हरीरी ने कहा कि उन्हें अपने देश में हिज्बुल्ला से जान का खतरा है। बस इसी इस्तीफे के बाद से वो लापता है।
सुलह कराने पहुंचे फ्रांस के प्रेसिडेंट
शुक्रवार को फ्रांस के प्रेसिडेंट इमानुएल मैक्रों भी खाड़ी देशों में तनाव कम कराने के लिए अचानक रियाद पहुंचे। उन्होंने अल-हरीरी के मामले पर अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से भी मुलाकात की। इधर लेबनान के प्रेसिडेंट माइकल औन का कहना है कि- 'हरीरी का इस्तीफा देने का तरीका असंवैधानिक है। हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते। कैबिनेट अभी भी अस्तित्व में है।' साद अल-हरीरी की फ्यूचर पार्टी ने भी कहा है कि साद अभी भी देश के लीडर हैं और स्थितियां सुधारने के लिए उनकी वतन वापसी जरूरी है। 
बेरूत में पीएम हरीरी के पोस्टर लगाकर उनकी वतन वापसी की मांग की जा रही है।

Source:Agency

Sensex