Breaking News

Today Click 198

Total Click 5103052

Date 22-01-18

जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के आग्रह पर उसे भारत को सौंप देंगे: मलयेशिया

By Khabarduniya :09-11-2017 07:26


मलयेशिया ने कहा है कि अगर भारत विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए आग्रह करेगा तो उसे भारत को सौंप दिया जाएगा। बता दें कि नाईक पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग मामले में एनआईए ने विशेष अदालत में चार्जशीट दाखिल की है। 

मलयेशिया न्यूजपेपर्स में छपी खबरों के अनुसार देश के डेप्युटी प्रधानमंत्री अहमद जाहिद हमीदी ने मलयेशिया के निचले सदन को बताया कि नाईक के प्रत्यर्पण को लेकर भारत से अभी कोई औपचारिक अनुरोध नहीं आया है। उन्होंने साथ ही कहा कि अगर भारत से ऐसा कोई अनुरोध आएगा तो नाईक को भारत को सौंप दिया जाएगा। NIA के सूत्रों ने बताया कि वे जल्द की विदेश मंत्रालय के जरिए मलयेशिया को नाईक के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक आग्रह भेजेंगे। 

डेप्युटी पीएम ने साथ ही कहा कि फिलहाल जाकिर का पासपोर्ट रद्द नहीं किया जा सकता, क्योंकि जाकिर ने अभी तक मलेशिया सरकार के किसी भी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। 52 वर्षीय जाकिर नाईक पर मुस्लिम युवाओं को कट्टरपंथ की तरफ ले जाने के लिए भड़काऊ प्रवचन देने का आरोप है। नाईक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) पर भारत सरकार ने रोक लगा रखी है। वह पिछले साल गिरफ्तारी से बचने के लिए भारत छोड़कर चले गए थे, जब ढाका आतंकवादी हमले के कुछ हमलावरों ने दावा किया था कि वे नाईक से प्रेरित थे। बांग्लादेश में पीस टीवी चैनल पर बैन है, जिस पर उनके विवादित प्रवचन प्रसारित होते रहते हैं। नाईक ने ओसामा बिन लादेन का भी समर्थन किया था। 

विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक काफी समय बाद पिछले महीने मलयेशिया की एक प्रमुख मस्जिद में अवतरित हुए थे। प्रशंसकों ने उनके साथ जमकर तस्वीरें लीं। अपने बॉडीगार्ड के साथ नाईक मलयेशिया की प्रशासनिक राजधानी की जिस 'पुत्र मस्जिद' में जनता के सामने आए थे, वहां प्रधानमंत्री और उनकी कैबिनेट के कई मंत्री अक्सर नमाज पढ़ने आते हैं। 

Source:Agency

Sensex