Breaking News

Today Click 165

Total Click 5094192

Date 16-12-17

यूपी की सुरक्षा के लिए खतरा हैं बांग्लादेशीः सीएम योगी

By Khabarduniya :12-10-2017 04:57


लखनऊ.... सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस और खुफिया विभाग के अफसरों से कहा है कि प्रदेश में अवैध रूप से रह रहे विदेशियों खासतौर से बांग्लादेशियों को चिह्नित कर उन्हें वापस भेजा जाए। उन्होंने अफसरों से कहा कि कई वारदात में इनका हाथ है और ये राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए भी खतरा हैं। 

पुलिस में सुधार, लेकिन अभी परफेक्ट नहीं 
शास्त्री भवन स्थित सभागार में गुरुवार को कानून-व्यवस्था की समीक्षा के दौरान सीएम ने अफसरों से कहा कि पुलिस को काम करने की खुली छूट दी गई है। अपराध नियंत्रण और पुलिसिंग में सुधार दिखा है, लेकिन अभी परफेक्ट परिणाम नहीं आए हैं। अपराध शून्य होना चाहिए। साथ ही लोगों के प्रति पुलिस का भी व्यवहार अच्छा होना चाहिए। जनता को किसी भी अफसर और एसओ से मिलने में दिक्कत न हो। उन्होंने कहा कि जो भी एसओ या अफसर डिलिवर नहीं कर पा रहे हैं उन्हें तत्काल प्रभाव से हटाया जाए। लाख कोशिशों के बाद भी निचले स्तर के पुलिसकर्मियों में सुधार नहीं दिख रहा है। इससे लोगों के बीच सरकार की छवि खराब हो रही है।
हर एसओ व अफसर के टारगेट तय हो
सीएम ने कहा कि पेशेवर अपराधियों के खिलाफ चुन-चुनकर कार्रवाई की जाए। हर एसओ व अफसर एक-एक अपराधी को टारगेट बनाए और उसे सलाखों के पीछे पहुंचाए। सीएम ने मोहर्रम के दौरान कानपुर और बलिया में हुई साम्प्रदायिक घटनाओं पर खासी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने अफसरों से कहा कि आने वाले त्योहारों के दौरान ऐसा कुछ भी हुआ तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। मथुरा में माता-पिता के हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई न होने से आहत होकर खुदकुशी करने वाली युवती के मामले पर भी सीएम ने नाराजगी जाहिर की। 

जेल में मस्ती कर रहे हैं अपराधी
सीएम ने अफसरों से कहा कि अपराधी जेल में मस्ती कर रहे हैं। वे जेलों में मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। उनके खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि जेलों में लगातार छापेमारी की जाए। 

दिवाली पर हादसे को रोकने का बनाए प्लान
सीएम ने अफसरों से कहा कि दिवाली के दौरान होने वाले हादसों को रोकने के लिए बेहतर योजना बनाएं। खुले स्थानों पर पटाखों की बिक्री करवाई जाए और वहां फायर ब्रिगेड का पर्याप्त इंतजाम हो। यूपी-100 की 3200 गाड़ियों को पेट्रोलिंग में लगाया जाए ताकि अपराधियों में पुलिस का भय पैदा हो। सीएम ने इंटैलिजेंस, एटीएस और एसटीएफ के अफसरों से कहा कि राज्यों के सीमावर्ती जिलों की विशेष निगरानी रखी जाए। उन्होंने पीएसी की 273 कंपनियों में से विघटित हुई 73 कंपनियों का जल्द पुर्नगठन करने को कहा है। 

ट्रेन के हर डिब्बे में हों जीआरपी का नंबर
योगी ने कहा कि ट्रेन में ड्यूटी कर रहे जीआरपी सिपाहियों के मोबाइल नंबर हर डिब्बे पर अंकित हों। ताकि जरूरत पड़ने पर लोग उन्हें फोन कर सकें। बैठक के दौरान सात जोन के एडीजी और गोरखपुर जोन के आईजी ने उनके द्वारा किए जा रहे अच्छे कामों और हाल में हुई बड़ी वारदात और सांप्रदायिक घटनाओं का ब्यौरा सीएम को दिया। बैठक में मुख्य सचिव राजीव कुमार, प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार, डीजीपी सुलखान सिंह, सचिव गृह मणि प्रसाद मिश्रा व भगवान स्वरूप और सचिव मुख्यमंत्री मृत्युंजय कुमार नारायण मौजूद रहे। 

सीएम की बैठक से पहले डीजीपी की रिहर्सल
कानून-व्यवस्था को लेकर सीएम की समीक्षा बैठक से पहले डीजीपी मुख्यालय में डीजीपी सुलखान सिंह ने जोन के अफसरों के साथ रिहर्सल बैठक की। इस दौरान उन्हें त्योहारों, निकाय चुनावों, महिला अपराध व पुलिस के व्यवहार में सुधार से जुड़े निर्देश दिए गए। 

Source:Agency

Sensex