Today Click 26

Total Click 5062335

Date 25-07-17

वीडियो

अंतरराष्ट्रीय

 

खेल

 

मनोरंजन

 

संपादकीय

लड़कियों की हार-जीत

हम भारतीयों पर हिन्दी फिल्मों का प्रभाव इतना अधिक रहता है किअसल जिंदगी में भी हर घटना की हैप्पी एंडिंग की उम्मीद हम बांधे रहते हैं। यूं उम्मीद पर ही दुनिया कायम है और आशावादी होना भी चाहिए, लेकिन उसके लिए सच्चाई से मुंह मोड़ना सही नहीं है।

रविवार 23 जुलाई को जब भारतीय महिला क्रिकेट टीम विश्वकप फाइनल के…

विस्तार से देखें

बशीर हाट हिंसा के पीछे

इस हिंसा से किसे फायदा होता है? भारत में सांप्रदायिक हिंसा का अध्ययन करने वाले विद्वानों जैसे पॉल ब्रास का कहना है कि भारत में एक संस्थागत दंगा तंत्र है। येल विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक अध्ययन से यह सामने आया है कि सांप्रदायिक हिंसा से अंतत: भाजपा को फायदा होता है। जो लोग कट्टरपंथी मुसलमानों को प्रसन्न करने में…

विस्तार से देखें

भीड़तंत्र से देश को मुक्त कराने की छटपटाहट

सबको मालूम है कि प्रधानमंत्री अपनी छवि को धूमिल नहीं होने देनाचाहते। फिलहाल सरकार की तरफ से जो संकेत आ रहे हैं उनके पीछेभीड़तंत्र से देश को मुक्त कराने की छटपटाहट भी साफ नज़र आ रही है।जाहिर है इस प्रक्रिया में गौ रक्षा के नाम पर सड़क पर न्याय दे रहीजमातों को कष्ट होगा और हो सकता है कि जिस वीएचपी ने राम मंदिरके मुद्दे को उठाकर भाजपा को 2 सीट वाली पार्टी से सरकार बनानेवाली पार्टी तक पहुंचाया उसको आने वाले समय में अपनी गति कोथोड़ा धीमा करना पड़े लेकिन अब सरकार को मालूम है कि अगर भीड़द्वारा लोगों की हत्या को बेलगाम छोड़ा गया तो देश को भारी नुकसान सेगुजरना पड़ेगा और ऐसा लगता है कि नरेंद्र मोदी की सरकार ऐसा कोईभी जोखिम नहीं लेना चाहती।

गौरक्षा के नाम पर हो रही बदमाशी अब केंद्र सरकार को भारी पड़ती नज़र आ रही है। राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दावा किया कि भीड़ द्वारा अल्पसंख्यकों की हत्या के मामले किसी साज़िश का हिस्सा हैं और देश को विकास के एजेंडा से हटा रहे हैं। इसके पहले प्रधानमंत्री ने खुद यह जोर देकर कहा…

विस्तार से देखें

Sensex